Tuesday, September 1, 2020

प्रणब मुखर्जी को सबसे बड़ा राजदार मानती थीं इंदिरा, उनकी कुछ अहम यादें

प्रणब मुखर्जी को सबसे बड़ा राजदार मानती थीं इंदिरा, उनकी कुछ अहम यादें


उन्होंने भारत रत्न अवॉर्ड मिलने की खबर अपने परिवार को भी तब तक नहीं दी जबतक औपचारिक तौर पर इसकी घोषणा नहीं 



बात 2009 की है. संसद के गेट नंबर 4 पर कुछ बहस चल रही थी. कई पत्रकार ये देख रहे थे. मैं भी वहां मौजूद था. एक सुरक्षाकर्मी ने कुर्ता-पायजामा पहने नेता को रोका और पूछा, आप कौन हैं? पहली बार सांसद बनकर आए वो नेता गुस्से में नजर आए. इसी बीच प्रणब मुखर्जी की एंट्री होती है. हालात सामान्य हो जाते हैं और सांसद को वो अपने साथ अंदर ले जाते हैं. इसके बाद दोपहर के वक्त प्रणब मुखर्जी ने अपने रूम में बातचीत के दौरान बताया कि 13 जुलाई 1969 को जब संसद में मेरा पहला दिन था तब मुझे भी ऐसे ही सुरक्षा गार्ड द्वारा रोक लिया गया था और पूछा गया था, आप कौन हैं? इस किस्से को याद करते हुए प्रणब मुखर्जी ने बताया कि मैंने सांसद (जिन्हें गेट पर रोका गया था) से कहा कि पहचान बनानी पड़ती है, मांगी नहीं जाती. 

प्रणब मुखर्जी ने जीवन में अपनी जगह बनाई. ऐसी जगह बनाई कि देश के सर्वोच्च पद पर आसीन होने के बाद इस दुनिया से विदाई ली. करीब 51 साल के सार्वजनिक जीवन में, 37 साल संसद में गुजारे, 22 साल 9 महीने एक मंत्री के रूप में गुजारे और पांच साल राष्ट्रपति रहने के बाद देश का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न भी पाया. हालांकि, वो कभी प्रधानमंत्री आवास की शोभा नहीं बढ़ा पाए. जबकि ये माना जाता रहा कि शायद उनके जैसा प्रधानमंत्री कोई न होता. 


31 अगस्त की शाम प्रणब मुखर्जी ने दिल्ली में आखिरी सांस ली. ये वो वक्त है जब मानसून सत्र शुरू होने जा रहा है. प्रणब मुखर्जी कई बार इस बात का जिक्र किया करते थे कि जुलाई 1969 में मानसून सत्र के दौरान ही उनका संसदीय सफर शुरू हुआ था. राजनीतिक जीवन के लंबे सफर में पीएम पद की चर्चा उनके आसपास चलती रही.

स्वर्गीय अरुण जेटली ने एक बार राज्यसभा में कहा था, ''मैं जानना चाहता हूं कि प्रणब मुखर्जी के दिमाग में क्या है. उन्होंने 1991 से पहले और बाद में, दोनों ही दौर में देश के बजट पेश किए. रायसीना हिल्स के चार अहम पदों में से 3 पर उन्होंने जिम्मेदारी संभाली. सितंबर 1982 में उन्होंने वित्त मंत्री के नाते डॉ. मनमोहन सिंह को आरबीआई का गवर्नर चुना. उन्होंने 50 अलग-अलग GoMs का नेतृत्व किया. वो ये कैसे स्वीकारते हैं कि वो पीएम नहीं हैं.''

No comments:

Post a Comment

MovieDekhiye

MovieDekhiye is one of the best entertaining site that provides the upcoming movies, new bollywood movies, movie trailers, web series and entertainment news.Get the list of latest Hindi movies, new and latest Bollywood movies 2019. Check out New Bollywood movies online, Upcoming Indian movies.




Pages

Contact Us

Name

Email *

Message *